ज्योतिष आचार्य मनोज शर्मा के अनुसार इस बार शारदीय नवरात्र होंगे पूरे नौ दिन

Share Post

गुरुज्योति पत्रिका/पाटन- वीरेंद्र शर्मा- प्रसिद्ध ज्योतिष आचार्य मनोज शर्मा ने बताया कि
नवरात्र शब्द का अर्थ है नौ दिन की अवधि। इस बार शारदीय नवरात्र का प्रारंभ आश्विन मास शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा दिनांक 26 .09 .2022 वार सोमवार से हो रहा है। देवी पुराण के अनुसार देवी की स्थापना ,पूजन व विसर्जन प्रातः काल में करना चाहिए। शास्त्रानुसार सूर्योदय से 10 घड़ी का समय ( 4 घंटे तक )प्रातः 6: 25 से 10: 25 बजे तक स्थापन व आरोपण में प्रातः काल माना गया है l इसलिए प्रातः 10:25 बजे तक नवरात्र का आरंभ करना चाहिए। इसके अलावा अभिजीत मुहूर्त में 11:53 से 12:40 तक नवरात्रा स्थापना कर सकते हैं। नवरात्र विसर्जन 4 अक्टूबर 2022 मंगलवार को होगा। परंपरा अनुसार अष्टमी को करने वाले लोग 3 अक्टूबर 2022 को कन्या पूजन करेंगेl
इन 9 दिनों में देवी के नौ स्वरूपों की पूजा की जाती है। पहले दिन शैलपुत्री, दूसरे दिन ब्रह्मचारिणी, तीसरे दिन चंद्रघंटा, चौथे दिन कुष्मांडा ,पांचवे दिन स्कंदमाता, छठे दिन कात्यायनी, सातवें दिन कालरात्रि, आठवें दिन महागौरी और नवें दिन सिद्धिदात्री के रूप में पूजा करनी चाहिए।
देवी भागवत पुराण के अनुसार नवरात्र का आरम्भ सोमवार को होने से माता हाथी पर विराजमान होकर आती है। ।यह सुख समृद्धि , वर्षा,धन धान्य का सूचक है।

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed

error: Content is protected !!
Call Now Button